contact@rudradivine.com

Track Order   

Our Shop

  • Home    >
  • Our Shop

24k Gold Plated Shri Yantra with Frame Yantra for Home Office Diwali pujan 24 ct Gold Plated Yantra in Heigh Quality Frame Shri Yantram

Product Rating : No rating yet.

₹321.00  ₹599.00  (46% off)

1.श्रीयंत्र

बहुत से घरों में आपने श्रीयंत्र को स्थापित देखा होगा। जो लोग श्रीयंत्र के विषय में नहीं जानते वह इसे मात्र कोई साधारण सी चीज ही मानते हैं। यहां तक कि जिन घरों में यह यंत्र स्थापित भी होता है वे भी इसकी महिमा और इसके महत्व को नहीं समझते। “कभी सुना था कि ये यंत्र घर में रखना शुभ होता है, इसलिए इसे रख लिया”, जब भी उनसे श्रीयंत्र के विषय में पूछा जाए तो अधिकांशत: यही जवाब देते हैं।

2.श्रीयंत्र का महत्व

आम जनमानस की समस्या ही यही है कि जितनी जल्दी उसके दिमाग में सवाल कुलबुलाते हैं, जिज्ञासा हिलोरे मारती है, उससे भी ज्यादा जल्दी वह सब कुछ भूलकर भेड़चाल में फंस जाता है। अगर आप भी श्रीयंत्र को घर में रखने जैसी भेड़चाल के शिकार हैं तो आज हम आपको इस यंत्र के महत्व और इसके पीछे की पौराणिक कथा से अवगत करवाने जा रहे हैं, ताकि आप श्रीयंत्र की उपयोगिता को समझ सकें।

3.आदि शंकराचार्य का तप

श्रीयंत्र से जुड़ी पौराणिक कथा के अनुसार एक बार अपने तप के बल से आदि शंकराचार्य ने भगवान शिव को अत्यंत प्रसन्न किया। जब शिव जी ने उनसे वरदान मांगने को कहा तो आदि शंकराचार्य ने उनसे विश्व कल्याण का उपाय पूछा।

 

4.शिव का वरदान

तब भगवान शंकर ने आदि शंकराचार्य को श्रीयंत्र प्रदान कर यह कहा कि यही विश्व कल्याण का आधार बनेगा। श्रीयंत्र प्रदान करते हुए भगवान शंकर ने आदि शंकराचार्य को श्रीयंत्र देते हुए कहा कि यह साक्षात देवी लक्ष्मी का स्वरूप है। इसके अलावा यह भी कहा कि श्रीयंत्र देवी भगवती महात्रिपुर सुदंरी का आराधना स्थल है, इस यंत्र के चक्र में उनका निवास स्थान है। इस यंत्र में देवी स्वयं विराजती हैं इसलिए यह विश्व का कल्याण करेगा।

 

5.रामबाण

आज का मनुष्य पूरी तरह भौतिकवाद से ग्रस्त हो चुका है और उसका जीवन लालच और प्रतिस्पर्धा की भेंट चढ़ चुका है। उसे अनेक प्रकार के अवसाद और समस्याओं से जूझना पड़ रहा है। ऐसे में घर में श्रीयंत्र की स्थापना उसकी सभी समस्याओं के लिए रामबाण बन सकती है।

6.सौभाग्य की वर्षा

इस यंत्र को श्रद्धा और आस्था के साथ अपने घर, ऑफिस या किसी अन्य व्यवसायिक स्थल पर स्थापित करने और प्रतिदिन इसकी पूजा करने से देवी प्रसन्न होती हैं और उनकी आराधना करने वाले व्यक्ति पर सौभाग्य, धन, वैभव की वर्षा करती हैं।

7.वास्तुदोष

अगर स्थान वास्तुदोष से पीड़ित हो या वास्तु के आधार पर सुख प्राप्त करने की इच्छा हो तो घर या ऑफिस की चारदीवारी के भीतर इस यंत्र को स्थापित करना चाहिए।

8.श्रीयंत्र के वृत्त

श्रीयंत्र में विभिन्न वृत्त और इसके केन्द्र में बिंदु मौजूद होती है। चारो ओर को मिलाकर इसमें नौ त्रिकोण होते हैं, जिनमें 5 के किनारे ऊपर की ओर और 4 के नीचे की ओर होती हैं।

 

9.श्रीयंत्र के प्रकार

यह यंत्र सर्व सिद्धिदायक कहा जाता है। इसे यंत्र राज भी कहा जाता है। श्रीयंत्र अनेक प्रकार के होते हैं, जिनमें भोजपत्र, त्रिलोह, ताम्रपत्र, रजत और स्वर्ण पत्र बने श्रीयंत्र मुख्य रूप से शामिल हैं।

10.स्फटिक और सोने का यंत्र

इसके अलावा श्रीयंत्र स्फटिक का भी बना होता है। स्फटिक या सोने के बने श्रीयंत्र को शास्त्रों के अनुसार शुभ मुहूर्त पर ऊर्ध्वमुखी यंत्र की पूजा करने के बाद कमलगट्टे की माला से जप करने से लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होती है। इसके अलावा अधोमुखी श्रीयंत्र को स्थापित करने से पहले उसके मंत्र का रुद्राक्ष की माला से जाप करने से शत्रु और रोगों से मुक्ति मिलती है।

Condition-New Shape-Squar
Style-Spritual Plating-Gold Plated
Material-24k Gold Plated Papper Sheet Weight-120gr
Size-9x9inch Colour-Gold
Origin-India Ruling God-Laxmi Ji
Laxmi Ji Beeja Mantra-Om Shareeng Hareeng Kaleeng Hareeng Shri Maha Lakshmiaye Namah
tab_img

There is no "mystery" - we just don't understand it and to truly understand requires a very open mind and "shraddha" - faith!

How much "power" you ascribe to a symbol depends upon how much you value you have for what the symbol stands for.

Sri yantra is a symbol. It also symbolizes a journey from our mundane world to attaining the Goddess who resides in the middle of that symbol, going through many steps in a methodical fashion.

Several chapters of Lalitha Sahasranamam, Trishathi, etc are dedicated to descriptions of the Sri yantra and regulations about its worship. (Not a bad summary at Wikipedia Lalita Sahasranama) Here is a high-level overview, that I learnt mostly from the amazing discourse on Soundarya Lahari by Kanchi Paramacharya in Deivathin Kural

We have to understand Devi upasana through 2 perspectives - a symbolic and mental . During early stages of worship, we use  "external" symbols and methods but over time, can evolve to more of a "mental" approach. An analogy is that of a child learning to add using his fingers, but later not needing his fingers to add and able to do it mentally.

Sri yantra, at one level, represents the physical abode of Devi (variably called Lalitha, Tripurasundari, Parashakti, Durga, Kameshwari) The above-mentioned works describe Lalitha's abode as a city above the Mount Meru - Sripuram or SriNagaram. It is a kingdom by itself surrounded by concentric walls in the center of which Lalitha rules. Each wall/circle represents some special thing in creation - what is notable is that the walls progress from the grossest to the subtlest. So, the outermost circles are made of gross metals like iron, copper, lead. The walls then start getting subtler.. plants, trees, then to subtler things like words, music, then to emotions like bravery and love and finally culminate in her house - "Chintamani grham" which indicates the highest thought which is of God or Self. (chinta meaning "thought") Inside the "chintamani grham", you see Lalitha Tripurasundari seated in a throne held by other gods (including Sadashiva, Brahma, Vishnu and Rudra), indicating that she is the shakti behind creation and even the creator/protector/dissolver can do nothing without her.

Devotees of Lalitha use a Sri yantra or Sri chakra as a representation of that Sripuram. You can see flat 2D versions or 3D versions also called Meru being used. (pictures at end) As a method of worship, they proceed through each wall through specific prayers until they reach the Chintamani grham and attain the feet of Lalitha. The methods are very specific and thought to bring many siddhis (powers). They are also tied to Kundalini yoga. This is the part that creates the "mystic"/"esoteric" viewpoint - it is believed to give ill effects if not followed properly under the guidance of a proper teacher, just as a wrongly-done hatha yoga pose can cause physical problems. Common people are discouraged from Srividya upasana because most don't have the mental strength and commitment to carry them through.

Now, let's delve into the "mental" perspective. The journey up the Meru, into Sripuram, crossing each wall and finally merging into Her is also a spiritual journey. One slowly loses grip on the world and takes steps towards Her. One discards attachment one-by-one to material possessions, then one's skills, reputation, then one's family and finally even one's ego and thought to finally to hold that one thought of Her.

Popular Product

5 Mukhi/Faced Rudraksha Mala With Two Big Beads 15 mm Rudraksha Beads - Unique Rudraksh Mala

₹276.00  ₹449.00  (39%)

Rating : No rating yet.

7 chakra Balancing Healing yoga Bracelet with 100% Original Red Sandal wood Beads - Exclusive/To Energised Seven chakra Of Human body And Heal the body Healing stone Bracelet reiky crystal

₹299.00  ₹299.00  (0%)

Rating : No rating yet.

Real 1 mukhi Himalaya rudraksha with certificate / 1 face himalya rudraksha with certified / 1 faced himalya rudraksha - Out of the Ordinary

₹13000.00  ₹14999.00  (13%)

Rating : No rating yet.

Virgo Zodiac Gemstone Lucky Fortune Pendant with 100% Original semi Precious Gemstone for Kanya Rashi with 24 ct. gold plated chain

₹299.00  ₹1100.00  (73%)

Rating : No rating yet.

Glass Crystal Tortoise with Pond - Fang Shui Vastu Set Crafts Crystal Turtle Tortoise with Plate for Good Luck Tortoise Turtle Best Gift for Career & Luck Plate-8 inch Tortoise-6 inch

₹649.00  ₹999.00  (35%)

Rating : No rating yet.

24k Gold plated shree kuber yantra

₹621.00  ₹699.00  (11%)

Rating : No rating yet.

Vastu Fengshui Astdhatu Metal Pyramid 91 pyramid inside Pyramid yantra for vaastu / 4.5 x 4 CM / 3 Layered

₹249.00  ₹599.00  (58%)

Rating : No rating yet.

Navaratna Silver pendant in Designer unique looks with 100% Original Gemstones and pure silver For Unisex

₹1499.00  ₹3500.00  (57%)

Rating : No rating yet.